Author Name : Manmohan Sharma

Reading Time : 5 Minutes

Description

भारत समेत दुनियाभर में कोरोना वायरस की लगातार बढ़ती दहशत के बीच मंगलवार को चार देशों के यात्रियों के लिए वीजा निलंबित कर दिया गया। सरकार ने जानकारी दी कि तीन मार्च या उससे पहले इटली, ईरान, दक्षिण कोरिया, जापान के उन नागरिकों को जारी किए गए नियमित वीजा/ -वीजा निलंबित किए गए जिन्होंने भारत में प्रवेश नहीं किया है।



भारत में कोरोना वायरस के सोमवार को दो नए मरीज मिले हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा था कि दिल्ली और तेलंगाना में एक-एक मरीज में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। 



वहीं, कोरोना वायरस के मामले लगातार दुनिया में बढ़ रहे हैं। विश्वभर में अब तक 3100 से ज्यादा लोगों की मौत कोरोना वायरस से हो चुकी है। इसके अलावा 90 हजार से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हैं। सर्वाधिक मामले तो चीन में हैं लेकिन इसके अलावा दक्षिण कोरिया, इटली और ईरान से भी कोरोना वायरस संक्रमण के कई मामले सामने आए हैं।  



विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि यह एक संक्रामक रोग है जो मानव के नए किस्म के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण फैला है और सही उपायों से इस पर काबू पाया जा सकता है। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेडरोस अधारोम घेब्रेयेसस ने कहा कि इस महामारी को जानना और समझना इसे हराने की दिशा में पहला कदम है। उन्होंने बताया कि यह संक्रमित व्यक्ति के बोलने, खांसने या छींकने से भी फैलता है।



 



आमतौर पर कोरोना वायरस के लक्षण निमोनिया जैसे हो सकते हैं




  • जुखाम, 

  • गले में दर्द, 

  • सांस लेने में दिक्कत, 

  • खांसी, 

  • बुखार 

  • सांस से जुड़ी समस्याएं, 

  • ज्यादा गंभीर मामलों में संक्रमण की वजह से निमोनिया, सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम, गुर्दे खराब होना और मौत तक हो सकती है.



 



क्या है कोरोना वायरस?

कोरोना वायरस (सीओवी) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है. इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है. इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था. डब्लूएचओ के मुताबिक, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं. अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है.



 



क्या हैं इस बीमारी के लक्षण?

इसके संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं. यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है. इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है. यह वायरस दिसंबर में सबसे पहले चीन में पकड़ में आया था. इसके दूसरे देशों में पहुंच जाने की आशंका जताई जा रही है.



 



क्या हैं इससे बचाव के उपाय?

स्वास्थ् मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं. इनके मुताबिक, हाथों को साबुन से धोना चाहिए. अल्कोहल आधारित हैंड रब का इस्तेमाल भी किया जा सकता है. खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्यू पेपर से ढककर रखें. जिन व्यक्तियों में कोल् और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें. अंडे और मांस के सेवन से बचें. जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें.



 

copyrights © 2020 nethelp.in All rights reserved.